Heart Broken Story In Hindi – Hindi Sad Story

Heart Broken Story In Hindi – Hindi Sad Story

ये कहानी ( Heart Broken Story In Hindi – Hindi Sad Story ) श्रेया के बारे में है, जिसको सच्चे प्यार के बदले धोखा और फरेब के अलावा कुछ नहीं मिला। अगर आप भी किसी को सच्चा प्यार करते हो तो ये कहानी आपको एक बार जरुरु पढ़नी चाहिए।

कॉलेज का पहला दिन था, जहां सभी के सामने नए- नए चेहरे थे। सभी उत्साह से अपनी पहचान बनाने में लगे थे और एक दूसरे से मिलकर नए दोस्त बना रहे थे।

पहले क्लास की शुरुआत हुई थी। क्लास से पहले चल रहे Introduction के इस सिलसिले को मैम ने और आसान बना दिया। उन्होंने सभी को अपना Introduction देने को कहा। सभी छात्र एक-एक करके अपने बारे में बता रहे थे, और इस क्रम में श्रेया ने अपनी बात शुरू की।

जैसे ही श्रेया ने अपने बारे में कहना शुरू किया, मानो उसी क्लास में बैठे विराज की आंखें बस उस पर ही टिक गई। श्रेया का Introduction खत्म होने के बाद भी, विराज की नजरें उस पर ही बनी रहीं।

कॉलेज के दूसरे दिन, जैसे ही विराज कॉलेज में पहुंचा, उसकी आंखें मात्र श्रेया को ढूंढ़ रही थीं। विराज ने हर संभावित तरीके से श्रेया से बातचीत करने का प्रयास किया, पर उसको यह मौका कभी नहीं मिला। यह चक्कर बहुत दिनों तक चलता रहा।

एक दिन कॉलेज में एक असाइनमेंट के लिए एक ग्रुप बनाया गया, जिसमें श्रेया और विराज का नाम एक ही ग्रुप में था। यह सुनकर विराज बहुत खुश हो गया। अब उसे श्रेया के साथ दोस्ती करने का मौका मिला और उसने इस मौके को खोए बिना उससे दोस्ती कर ली। साथ ही, वे असाइनमेंट को मिलकर बना रहे थे और इसके बीच दोस्ती भी बढ़ती चली गई।

समय के साथ-साथ, श्रेया और विराज अब बहुत अच्छे दोस्त बन गए थे। हालांकि, इन दोनों की दोस्ती धीरे-धीरे और भी गहराई प्राप्त कर रही थी। एक दिन, विराज ने मौका देखकर श्रेया को प्रपोज़ कर दिया। श्रेया ने भी उसे नहीं मना किया, क्योंकि उसके दिल में भी विराज के प्रति एक खास भावना थी।

अब, वे दोनों दोस्त से अधिक हो चुके थे, और इस प्यार भरे संबंध को वे एक-दूसरे के साथ जी रहे थे। कॉलेज के बाद भी, उनकी मुलाकातें जारी रहीं। पूरे क्लास को अब श्रेया और विराज के प्यार भरे किस्से के बारे में पता था।

विराज ने हमेशा श्रेया को महंगे उपहार दिए और श्रेया ने भी विराज को असाइनमेंट बनाने में मदद की। सभी कहते थे कि श्रेया और विराज एक-दूसरे के लिए बने हैं, अर्थात वे सच्चे संजीवनी हैं।

श्रेया हमेशा विराज से शादी के बारे में पूछती रहती थी, और विराज हमेशा उसे यकीन दिलाता रहता कि वह उसके बिना नहीं रह सकता। तीन साल तक, उनका रिलेशनशिप काफी मजबूत रहा। लेकिन कॉलेज के बाद, श्रेया और विराज का मिलना कम हो गया।

विराज श्रेया के Call का जवाब देने में ध्यान नहीं देता था, कहता था कि वह अपने पापा के व्यापार में व्यस्त है। श्रेया ने अपने परिवार को विराज के बारे में बताया हुआ था, लेकिन उसके परिवार वाले अब उस पर शादी के लिए दबाव डाल रहे थे।

श्रेया अब अपने परिवार को भी कोई जवाब नहीं दे पा रही थी। फिर एक दिन, श्रेया ने विराज के पापा के रेस्टोरेंट में जाकर मिलने का निर्णय किया, लेकिन वहां पर विराज नहीं था। इस पर श्रेया ने विराज के पापा से कहा कि वह विराज की दोस्त है और वो यहां से गुजर रही थी, तो यहां आ गई।

विराज के पापा ने श्रेया को बुलाया और वेटर से कुछ खाने-पीने की चीजें लाने को कहा। जब वे बैठकर बातें कर रहे थे, तभी विराज के पापा ने एक चौंकाने वाली बात कही, ‘बेटा, तुम विराज की शादी में आ रही हो ना?’ यह सुनकर रिचा को लगा जैसे उसके कानों में बेल बज रही हों।

फिर से पूछने पर उन्होंने बताया कि ‘हाँ, विराज की शादी अगले महीने है और उसकी तैयारी में जुटा हूँ। वह बहुत खुश है कि उसकी पसंदीदा लड़की के साथ शादी हो रही है, जिससे वह स्कूल के दिनों से जानता है।’

इस खबर को सुनते ही श्रेया बिल्कुल बिना कुछ कहे उस स्थान से बाहर निकल गई। घर पहुंचकर, उसने सीधे अपने कमरे में जाकर खुद को बंद कर लिया और घंटों रोई।

श्रेया ने अपने माता-पिता को इस घटना के बारे में बताया, तो उन्होंने श्रेया को किसी भी तरह से समझाया कि अब उसे आगे बढ़ना चाहिए और भविष्य की योजना बनानी चाहिए। जो हुआ है, वह हो गया है; अब उस पर रोना बंद करो और आगे की जिन्दगी के लिए सोचो।

हालांकि, श्रेया अब तक विराज को भूला नहीं सकी है और रोज़ रात को उसके ख्यालों में रोती है, उसने अपने दिल को दिलासा देते हुए कहा है, “तो क्या हुआ, जो एक दिल टूट गया”।

Moral: मित्रों, आपका प्रेम हमेशा सफल और वास्तविक हो, यह आवश्यक नहीं होता। कई बार, लोगो को प्रेम में विश्वासघात भी सहन करना पड़ता हैं, लेकिन इसमें शायद आपमें भी कुछ लापरवाही होगी। शायद वह आपका प्रेमी वही व्यक्ति नहीं था जिसके लिए आपने अपना दिल समर्पित किया था। कहीं ना कहीं, आपमें भी उस व्यक्ति को मूल्यांकन करने की गलती हुई होगी।

You May Also Check

आज ही क्यों नहीं ? – हिंदी कहानी – Moral Story In Hindi

Suspense Story In Hindi – खून किसने किया?

3 thoughts on “Heart Broken Story In Hindi – Hindi Sad Story”

Leave a Comment