Fashion Designer Kaise Bane/, भारत में फैशन डिज़ाइनर कैसे बनें? (योग्यता, कोर्स, करियर, जिम्मेदारी) #Storiesviewforall

Table of Contents

क्या आप भी अपने आप से यह प्रश्न (Fashion Designer Kaise Bane) पूछते हैं? या फिर हो सकता है आप इसी प्रश्न को गूगल पर टाइप करके इसके बारे में जानना चाहते हों। आज का समय फैशन का समय है । यद्यपि फैशन का पूरा मतलब किसी के पहनावे से लगाया जाता है, इसमें कपड़े से लेकर, जूते चप्पल, बेल्ट  इत्यादि सब कुछ शामिल होते हैं ।
Fashion Designer kaise Bne
Fashion Designer kaise Bne

लेकिन आम तौर पर देखा गया है की फैशन को कपड़ों से ही जोड़कर देखा जाता है। आपको बता देना चाहेंगे की सेलेब्रिटी जैसे मॉडल, अभिनेता, अभिनेत्री हर बार अपने लिए नए नए कपड़े डिजाईन करते हैं, और कई बार तो ऐसे कपड़े डिजाईन करते हैं, की आम लोग उन्हें देखकर हैरान रह जाते हैं। लेकिन बाद में जब जनता के बीच यही ट्रेंड जोर पकड़ने लगता है, तो वही नए फैशन का रूप धारण कर लेता है।

वैसे आम तौर पर फैशन का अर्थ ऐसे कपड़ों से लगाया जाता है, जो आप पर अच्छे लगें और आपको उन्हें पहनने में किसी प्रकार की कोई परेशानी न हो। लेकिन भारत में फैशन या नए ट्रेंड की शुरुआत अभिनेता, अभिनेत्रियों, मॉडल के द्वारा होती है। क्योंकि इन्हें ही कई मौकों पर नए नए डिजाईन के कपड़े पहनने की आवश्यकता होती है। Fashion Designer kaise Bne

या फिर ये भी कह सकते हैं की फैशन डिज़ाइनर जो भी डिजाईन करते हैं, वह एक ट्रेंड बन जाए इसके लिए वह सेलेब्रिटी, अभिनेता, अभिनेत्रियों, मॉडल इत्यादि का इस्तेमाल करते हैं। ताकि अधिक से अधिक जनता उस फैशन को अपनाने के लिए उत्सुक हो और फैशन कंपनी अपने उत्पादों की ज्यादा से ज्यादा बेच सके।

Fashion Designer kaise Bne
Fashion Designer kaise Bne
फैशन डिजाइनिंग होती क्या है?

इस तरह के काम में आपको किसी विशेष ग्राहक के लिए उसकी माँग के अनुसार या फिर जैसे वस्त्र और लुक उसे पसंद हो वह रचनात्मक लुक उसे देना होता है, इसी प्रक्रिया को फैशन डिजाइनिंग कहा जाता है। या फिर ऐसा भी हो सकता है की जिस कंपनी में आप फैशन डिज़ाइनर के तौर पर काम कर रहे हों वह कंपनी लोगों की पसंद के अनुसार कुछ नए कपड़े, जूते, बेल्ट या फिर अन्य कोई फैशन उपकरण बनाना चाहती हो, और आपको उसकी डिजाइनिंग की जिम्मेदारी दी जाय।

टेक्सटाइल कंपनियों को भी फैशन डिज़ाइनर की आवश्यकता होती है। ताकि वे समय समय पर लोगों की पसंद और माँग के अनुसार अपने प्रोडक्ट में जरुरी परिवर्तन कर सकें, और उनके प्रोडक्ट कभी भी आउट ऑफ़ फैशन न हों ।

फैशन डिज़ाइनर कैसे बनें?

यदि आपको लगता है की आप रचनात्मक हैं, और एक कपड़े को किस ढंग से पहनने लायक बनाया जा सकता है, ताकि वह पहनने वाले को एक नया लुक और आराम प्रदान कर सके तो आप आसानी से फैशन डिज़ाइनर बन सकते हैं ।

यह भी देखिये : Copywriting Kya Hai/ Copywriting Kaise Bne कॉपीराइटिंग क्या होती है, और कॉपीराइटर कैसे बनें। #Storiesviewforall

यद्यपि जब आप अपनी बारहवीं की पढाई पूरी करने के बाद फैशन डिजाइनिंग का कोर्स कर रहे होते हैं, तो इस तरह के इस व्यवसायिक कोर्स में आपको अच्छी तरह से समझाया जाता है की एक फैशन डिज़ाइनर के तौर पर आपका भविष्य में क्या क्या काम हो सकते हैं । तो आइये जानते हैं की भारत में फैशन डिज़ाइनर बनने के लिए आपको किन किन प्रक्रियाओं से गुजरने की आवश्यकता हो सकती है।

दसवीं से ही अपनी रूचि को पहचानें

ध्यान देने वाली बात यह है की फैशन डिजाइनिंग एक ऐसा क्षेत्र है जहाँ पर कदम कदम पर रचनात्मकता चाहिए होती है। जिस प्रकार आप बचपन में कागज़ से कई प्रकार के फूल और अन्य चीजें बना लेते थे, ठीक इसी प्रकार एक सफल फैशन डिज़ाइनर बनने के लिए आपको कपड़े से खेलना आना चाहिए।

आपको पता होना चाहिए की कपड़े पर कौन सा कट कहाँ पर लगने से क्या होगा? कहाँ पर बटन लगेगा या नहीं लगेगा? शरीर का कौन सा भाग कितना ढकेगा और कितना दिखेगा? साथ ही साथ जो भी वस्त्र आप तैयार करने वाले हैं वह पहनने में आरामदायक होगा या नहीं होगा।

यदि आपको कागज एवं पुरानी सामग्री से कई तरह की उपयोगी वस्तुएं बनाना आता है, तो आप अपने आपको रचनात्मक कह सकते हैं। और फैशन डिजाइनिंग का यह क्षेत्र आपके भविष्य को सुधारने वाला क्षेत्र हो सकता है।

यह भी देखिये : How to Become LIC Agent in India, LIC के एजेंट कैसे बने जाने प्रकिर्या #Storiesviewforall  

बारहवीं की परीक्षा किसी भी स्ट्रीम से पास करें

जैसा की कई अन्य कोर्स के लिए होता है की बारहवीं साइंस स्ट्रीम से कुछ खास विषयों के साथ पास की हुई चाहिए होती है। लेकिन ऐसे लोग जो फैशन डिज़ाइनर बनना चाहते हैं वे किसी भी स्ट्रीम से बारहवीं पास कर सकते हैं। आप चाहें तो आर्ट, कॉमर्स या साइंस किसी भी स्ट्रीम के साथ बारहवीं पास कर सकते हैं।  कुछ कॉलेज और यूनिवर्सिटी द्वारा कम से कम 55% प्राप्तांकों की बाध्यता रखी जाती है। इसलिए बारहवीं में अधिक से अधिक अंक लाने की कोशिश जरुर करें।     

फैशन डिजाइनिंग के लिए कॉलेज/यूनिवर्सिटी का चुनाव करें

जब आप बारहवीं पास कर लेते हैं तो उसके बाद फैशन डिज़ाइनर बनने के लिए आपको फैशन डिजाइनिंग में कोई कोर्स करना होता है । इसलिए इस कोर्स को करने के लिए आपको अपने लिए रेपुटेड कॉलेज और यूनिवर्सिटी का चुनाव करना होगा, फैशन डिजाइनिंग में देश विदेश के कुछ रेपुटेड कॉलेज की लिस्ट इस प्रकार से हैं ।

यह भी देखिये : Youtube Se Kamai Karne Ke Video Ideas/ यूट्यूब के लिए विडियो आईडियाज #Storiesviewsforall

  • नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ फैशन टेक्नोलॉजी, जिसकी दिल्ली, मुंबई, बंगलौर, पटना, गांधीनगर, हैदराबाद इत्यादि शहरों में कॉलेज स्थापित हैं ।
  • पर्ल अकैडेमी राजौरी गार्डन
  • सिम्बोसिस इंस्टिट्यूट ऑफ़ डिजाईन पुणे
  • आर्मी इंस्टिट्यूट ऑफ़ फैशन एंड डिजाईन
  • एमिटी स्कूल ऑफ़ फैशन टेक्नोलॉजी
  • जेडी इंस्टिट्यूट ऑफ़ फैशन टेक्नोलॉजी
  • vogue इंस्टिट्यूट ऑफ़ आर्ट एंड डिजाईन
कुछ प्रसिद्ध अंतराष्ट्रीय कॉलेज/यूनिवर्सिटी की लिस्ट इस प्रकार से है।
  • लन्दन कॉलेज ऑफ़ फैशन यूनाइटेड किंगडम
  • फैशन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, न्यू यॉर्क, अमेरिका
  • सेंट्रल सैंट मार्टिन, लन्दन, यूनाइटेड किंगडम
  • पारसंस स्कूल ऑफ़ डिजाईन, न्यू यॉर्क अमेरिका
  • स्कूल ऑफ़ आर्ट्स डिजाईन एंड आर्किटेक्चर, फिनलैंड
  • सेवन्नाह कॉलेज ऑफ़ आर्ट एंड डिजाईन, जॉर्जिया, अमेरिका
  • स्कूल ऑफ़ डिजाईन एट रॉयल कॉलेज ऑफ़ आर्ट, लन्दन, यूनाइटेड किंगडम
यद्यपि कॉलेज यूनिवर्सिटी का चयन करने से पहले आपको या निर्णय लेना होता है, की आप फैशन डिजाइनिंग का कोर्स भारत में रहकर ही करना चाहते हैं, या फिर विदेश में जाकर करना चाहते हैं। तभी आप उसी आधार पर अपने लिए कॉलेज/यूनिवर्सिटी का चयन कर सकते हैं।
फैशन डिजाइनिंग का कोर्स चयन करें

भारत में फैशन डिज़ाइनर बनने के लिए सिर्फ बारहवीं पास करने के बाद ही कोर्स उपलब्ध नहीं है । बल्कि यदि इच्छुक विद्यार्थी चाहे तो दसवीं पास करने के बाद भी फैशन डिजाइनिंग में कुछ डिप्लोमा कोर्स कर सकता है ।

यह भी देखिये : Naya Voter ID Card Kaise Banaye: How to Make Voter ID Card Using Online New Portal 2024 #Storiesviewforall

दसवीं के बाद फैशन डिजाइनिंग के कोर्स

यदि आप दसवीं के बाद ही फैशन डिजाइनिंग का अध्यन करना चाहते हैं, तो उसके लिए आप कुछ डिप्लोमा कोर्स कर सकते हैं ।

  • विद्यार्थी चाहे तो डिप्लोमा इन फैशन डिजाइनिंग का कोर्स का सकता है।
  • डिप्लोमा इन फैशन एंड टेक्सटाइल डिजाईन भी किया जा सकता है ।
  • डिप्लोमा इन फैशन स्टाइलिस्ट एंड इमेज कंसलटेंट का कोर्स भी किया जा सकता है।
  • आप चाहें तो डिप्लोमा इन फैशन तकनीशियन का कोर्स भी कर सकते हैं।
  • इन सबके अलावा दसवीं के बाद डिप्लोमा इन फैशन स्टाइलिस्ट का कोर्स भी किया जा सकता है।
बारहवीं के बाद किये जाने वाले फैशन डिजाइनिंग कोर्स

आप चाहें तो फैशन डिजाइनिंग में ग्रेजुएशन भी कर सकते हैं। बारहवीं के बाद किये जा सकने वाले कोर्स की लिस्ट इस प्रकार से है ।

  • इच्छुक विद्यार्थी चाहे तो बैचलर इन फैशन डिजाइनिंग का कोर्स कर सकता है।
  • इच्छुक विद्यार्थी चाहे तो फैशन जर्नलिज्म में बीए हॉनर कर सकता है।
  • चाहे तो फैशन डिजाइनिंग और क्रिएटिव डायरेक्शन में भी बीए हॉनर की पढाई कर सकता है ।
  • बैचलर ऑफ़ फैशन डिजाईन एंड टेक्नोलॉजी कोर्स भी उपलब्ध है।
  • फैशन डिजाइनिंग में बीएससी कोर्स भी उपलब्ध है।
  • बैचलर इन टेक्सटाइल डिजाईन कोर्स भी इच्छुक विद्यार्थी कर सकता है।
  • इन सबके अलावा फैशन डिजाइनिंग और मैन्युफैक्चरिंग में बीए हॉनर का कोर्स भी उपलब्ध है।
फैशन डिजाइनिंग के लिए मास्टर कोर्स

यदि आपको फैशन डिजाइनिंग से ग्रेजुएशन करने के बाद भी इसमें मास्टर करने की इच्छा होती है, तो इसके लिए आपके पास निम्न कोर्स मौजूद होते हैं ।

  • आप चाहें तो मास्टर इन फैशन डिजाईन कोर्स कर सकते हैं।
  • चाहें तो फैशन डिजाईन टेक्नोलॉजी में एमए कर सकते हैं।
  • चाहें तो फैशन फोटोग्राफी से एमए कर सकते हैं।
  • चाहें तो मास्टर इन फैशन टेक्नोलॉजी का कोर्स कर सकते हैं।
  • चाहें तो मास्टर ऑफ़ फैशन मैनेजमेंट का कोर्स कर सकते हैं ।
  • फैशन कलेक्शन मैनेजमेंट में मास्टर कर सकते हैं ।
  • स्टाइलिंग, इमेज एंड फैशन कम्युनिकेशन में मास्टर कोर्स कर सकते हैं ।
  • फैशन ब्रांड मैनेजमेंट में मास्टर कर सकते हैं।
कंपनियों में नौकरी ढूंढें

आम तौर पर कई तरह के कपड़े और अन्य फैशन उपकरण बनाने वाली कंपनियों में आपके लिए अवसरों की भरमार होती है। यदि आपने किसी रेपुटेड कॉलेज/यूनिवर्सिटी से फैशन डिजाइनिंग का कोर्स किया होगा, तो हो सकता है की आप किसी टॉप कंपनी में प्लेसमेंट के माध्यम से नौकरी मिल जाय ।

लेकिन यदि ऐसा नहीं होता है तो आपको Alan Solly, Lifestyle, Pantaloons, Raymonds इत्यादि कंपनियाँ जो कपड़े और फैशन उपकरणों का निर्माण करती है में नौकरी ढूंढनी होगी। हालांकि शुरूआती दौर में एक फ्रेशर के तौर पर आपके लिए नौकरी पाना थोड़ा कठिन जरुर हो सकता है। लेकिन असम्भव नहीं, इसलिए नौकरी ढूँढने की अपनी कोशिश को जारी रखें।

क्या फैशन डिज़ाइनर बनना एक अच्छा करियर विकल्प है?

फैशन डिज़ाइनर नहीं बनेंगे तो कुछ न कुछ काम धंधा तो अपनी आजीविका को चलाने के लिए आपको करना ही होगा। लेकिन यह आपके लिए एक बेहतर करियर आप्शन है या नहीं यह आपकी रूचि और रचनात्मकता पर निर्भर करता है । यदि आप रचनात्मक हैं और फैशन के प्रति आपका रुझान है तो आप फैशन का कोर्स भी उत्साह से करेंगे, और उसमें रूचि होगी तो सीखेंगे भी । और जब आप सीखेंगे तो फिर आप एक अच्छा फैशन डिज़ाइनर बन भी सकते हैं।

जहाँ तक फैशन डिजाइनिंग का सवाल है वर्तमान जीवनशैली में इसका महत्व बहुत अधिक बढ़ गया है। लोगों की डिस्पोजेबल इनकम बढ़ने के साथ लोग कपड़ों एवं अन्य फैशन उपकरणों पर ज्यादा खर्चा करने लगे हैं । फैशन और टेक्सटाइल कंपनियों के अलावा फिल्म इंडस्ट्री के लोगों को भी काबिल फैशन डिज़ाइनर की आवश्यकता पड़ती रहती है। यहाँ पर कुछ ऐसे कारकों की लिस्ट दी जा रही है जो इस क्षेत्र में और अधिक संभावनाएँ होने की पुष्टि करते हैं।

यह भी देखिये : Bank PO Kaise Bane? How to become Bank PO in 2024 – बैंक पीओ कैसे बने, जाने योग्यता, सैलरी और कार्य की पूरी जानकारी #Storiesviewforall

  • यदि आप रचनात्मक हैं और कुछ भी नया डिजाईन करने में आनंद प्राप्त करते हैं तो यह एक ऐसा क्षेत्र है जो आपको आपके किये गए काम से पूर्ण संतुष्टि प्रदान करेगा ।
  • एक फैशन डिज़ाइनर के तौर पर जब आप लोगों के पहनावे और लुक का आकलन करेंगे तो यह अनुभूति आपको रोमांचित कर देगी ।
  • कपड़ों एवं अन्य फैशन उपकरणों में थोड़े से बदलाव जो लोगों को पसंद आ गए वे आपकी भारी कमाई करा सकते हैं।
  • यदि आप एक प्रसिद्ध फैशन डिज़ाइनर के तौर पर अपने आपको स्थापित कर देते हैं तो बड़ी बड़ी हस्तियों से आपके संपर्क हो जाते हैं। जिससे आपको सिर्फ दौलत ही नहीं बल्कि प्रसिद्धी भी मिलती है ।
  • कुछ सालों किसी कंपनी या संगठन के साथ फैशन डिज़ाइनर के तौर पर काम करने के बाद और इंडस्ट्री का अनुभव लेने के बाद आप चाहें तो खुद का ही कोई फैशन ब्रांड स्थापित कर सकते हैं।
फैशन डिज़ाइनर को क्या क्या काम करने पड़ते हैं?

जब आप किसी कंपनी या संगठन में एक फैशन डिज़ाइनर के तौर पर कार्यरत होते हैं, तो कंपनी द्वारा आपको कई तरह की जिम्मेदारियाँ प्रदान की जाती हैं। जिनका निर्वहन आपको अपनी शिक्षा, कौशल, अनुभव इत्यादि के आधार पर कुशलतापूर्वक करना होता है।

  • फैशन के बाज़ार में लोगों को क्या पसंद आ रहा है, और क्या नहीं आ रहा है इन सब बातों का विश्लेषण करना।
  • उस कंपनी या संगठन के जो भी फैशन उत्पाद बाज़ार में चल रहे हैं, ग्राहक उनमें क्या सुधार देखना चाहते हैं उनका विश्लेषण और उन्हें ग्राहकों की आशाओं, आंक्षाओं के प्रति बेहतर करने के जरुरी डिजाईन इत्यादि तैयार करना।
  • कौन सी डिजाईन में कौन से कपड़े का इस्तेमाल हो सकता है, इस बात का निर्णय लेना भी फैशन डिज़ाइनर का ही काम होता है ।
  • यदि कोई खास ग्राहक अपने लिए कुछ खास कपड़े या अन्य फैशन उपकरण जिसमें कंपनी डील करती हो बनाना चाह रहा है, तो उस विशेष फैशन उपकरण की डिजाईन करना ।
  • फैशन प्रोडक्ट को मार्किट में उतारने से पहले या फिर किसी विशेष ग्राहक को देने से पहले उसकी थीम, स्टोरी इत्यादि ग्राहकों के सामने पेश करना भी फैशन डिज़ाइनर के कार्यों में शामिल है।
विदेशी कॉलेजों में एडमिशन के लिए कैसे आवेदन करें?

यहाँ पर ध्यान देने वाली बात यह है की यदि आप विदेश में पढाई करने के लिए जाना चाहते हैं । तो आपको कई तरह के टेस्ट जैसे TOEFL(Test of English as a Foreign Language), SAT, IELTS इत्यादि पास करने की आवश्यकता होती है। आपको कौन सा टेस्ट पास करना होगा यह इस बात पर निर्भर करेगा की आप अपनी पढाई के लिए किस देश में जाना चाहते हैं। आम तौर पर ये टेस्ट उन देशों के लिए हैं जहाँ पर उनकी मुख्य भाषा अंग्रेजी नहीं है, और ये ऊपर बताए गए सारे टेस्ट अंग्रेजी भाषा के ही टेस्ट होते हैं। इनमें से कोई एक टेस्ट आपको पास करना होता है।

  1. लेकिन उससे पहले आपको अपने सारे दस्तावेज कॉमन लैटर ऑफ़ रिकमेन्डेशन से लेकर सभी सर्टिफिकेट तैयार करने होते हैं। विदेशी विश्वविद्यालय से फैशन डिजाइनिंग का कोर्स करने के लिए आपको निम्नलिखित कदम उठाने की आवश्यकता हो सकती है ।
  2. सबसे पहले आपको कोर्स और कंट्री का चयन करना होता है, जहाँ से आप फैशन डिजाइनिंग का कोर्स करना चाहते हैं।
  3. जब आप कोर्स और कंट्री का चयन कर लेते हैं तो उसके बाद उस कंट्री में कौन सा लैंग्वेज प्रोफिसीएनसी टेस्ट लिया जाता है, वह आपको पास करना होता है। जैसे यदि आप कनाडा पढाई करना जाना चाहते हैं तो आपको IELTS एग्जाम पास करना होता है। हालांकि कनाडा में कुछ यूनिवर्सिटी द्वारा TOEFL Exam में प्राप्त स्कोर को माँगा जाता है ।
  4. उसके बाद जब आप अंग्रेजी भाषा का यह टेस्ट पास कर लेते हैं तो आप उस कंट्री में उस कोर्स के लिए उपलब्ध यूनिवर्सिटी में आवेदन कर सकते हैं ।
  5. जब यूनिवर्सिटी द्वारा आपको ऑफर लैटर प्रदान कर दिया जाता है तो उसके बाद आप उस देश के लिए स्टूडेंट वीजा के लिए अप्लाई कर सकते हैं ।
भारतीय कॉलेज/यूनिवर्सिटी में आवेदन कैसे करें?

यदि आप भारत में स्थित कॉलेज/यूनिवर्सिटी से ही फैशन डिजाइनिंग का कोर्स करना चाहते हैं, तो आपको किसी प्रकार के भाषा टेस्ट को पास करने की आवश्यकता नहीं होती है । लेकिन कुछ रेपुटेड कॉलेज अपना इंटरनल एंट्रेंस एग्जाम आयोजित कराते हैं, और उसमें प्राप्त रैंक के आधार पर ही एडमिशन देते हैं। इसलिए यदि आप ऐसे यूनिवर्सिटी/कॉलेज से फैशन डिजाइनिंग करना चाहते हैं तो आपका पहला कदम उस एंट्रेंस एग्जाम के लिए तैयारी और उसमें अच्छी रैंक लाने का होना चाहिए।

यह भी देखिये : Authorised Irctc Agent Kaise Bane Fayde/ IRCTC Agent बनकर कमाई कैसे करें। फायदे, दस्तावेज, शुल्क सहित जानकारी । #Storiesviewforall

यदि उस एंट्रेंस एग्जाम में आपकी अच्छी रैंक आती है तो फिर आपका एडमिशन सुनिश्चित है। सरकारी कॉलेज/यूनिवर्सिटी में एडमिशन के लिए आपको एंट्रेंस एग्जाम के बाद काउंसलिंग प्रक्रिया से भी गुजरना होगा । लेकिन यदि आप किसी ऐसे प्राइवेट कॉलेज/यूनिवर्सिटी से फैशन डिजाइनिंग करना चाहते हैं, जो एंट्रेंस एग्जाम आयोजित नहीं कराती है, तो  वहां पर एडमिशन के लिए आप निम्न प्रक्रिया को अपना सकते हैं।

  1. जिस भी यूनिवर्सिटी और कॉलेज का चयन आपने फैशन डिजाइनिंग कोर्स के लिए किया हुआ है उसकी अधिकारिक वेबसाइट पर विजिट करें ।
  2. और अधिकांश यूनिवर्सिटी में स्टूडेंट रजिस्ट्रेशन का विकल्प दिया हुआ होता है आप उस पर क्लिक करके स्टूडेंट के तौर पर अपना रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं ।
  3. जब आप उस पोर्टल पर अपना रजिस्ट्रेशन पूर्ण कर देते हैं तो सिस्टम द्वारा आपको एक यूजर आईडी और पासवर्ड प्रदान किया जाता है ।
  4. अब आप उस यूजर आईडी और पासवर्ड के जरिये उस पोर्टल पर लॉग इन हो सकते हैं।
  5. उसके बाद फैशन डिजाइनिंग के जिस भी कोर्स के लिए अप आवेदन करना चाहते हैं उसका चयन करके आगे बढ़ सकते हैं।
  6. इस प्रक्रिया में आपको आगे जरुरी फॉर्म और अपनी जरुरी शैक्षणिक डिटेल्स भरनी होती है और आवेदन शुल्क का भुगतान करके फॉर्म को सबमिट कर देना होता है।
  7. जैसा की हम पहले भी बता चुके हैं की कई कॉलेज/यूनिवर्सिटी एंट्रेंस एग्जाम भी कराती है यदि ऐसा है तो सबसे पहले आपको एंट्रेंस एग्जाम के लिए ही आवेदन करना होगा।
वैसे अच्छा यही रहता है की ऑनलाइन प्रक्रिया को करने से पहले जिस भी कॉलेज/यूनिवर्सिटी का चयन आपने फैशन डिजाइनिंग कोर्स के लिए किया हो, उनके ऑफिसियल नंबर पर फ़ोन करके एडमिशन प्रक्रिया की जानकारी ले लें, और उसके बाद ही आगे बढ़ें ।

मुझे उम्मीद है कि आप सभी लोगों को हमारा यह आर्टिकल जरूरी पसंद आया होगा। यदि आपको हमारा आर्टिकल पसंद आता है तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूले और आर्टिकल पढ़ने के लिए धन्यवाद।

HOME
FAQ (सवाल/जवाब)
क्या फैशन डिजाइनिंग कोर्स में एडमिशन के लिए एंट्रेंस एग्जाम भी होता है?
जी हाँ बहुत सारे कॉलेज/यूनिवर्सिटी जो इस तरह का कोर्स ऑफर करती हैं, वे अपना इंटरनल एंट्रेंस एग्जाम भी आयोजित कराती हैं । लेकिन कुछ प्राइवेट कॉलेज बिना एंट्रेंस एग्जाम के भी एडमिशन दे देते हैं। हालांकि सरकारी कॉलेज/यूनिवर्सिटी में एडमिशन के लिए एंट्रेंस एग्जाम जरुरी हो सकता है।
भारत में फैशन डिज़ाइनर की सैलरी कितनी होती है?
भारत में फैशन डिज़ाइनर की सैलरी ₹22000 से लेकर रूपये ₹1.5 लाख महीने तक कुछ भी हो सकती है।

इस लेख में हमने इस प्रश्न (Fashion Designer Kaise Bane) का विस्तृत और पूरा उत्तर देने का भरसक प्रयत्न किया हुआ है। आशा करते हैं की यदि आपने हमारा यह लेख अंत तक पढ़ा होगा, तो आप समझ गए होंगे की भारत में फैशन डिज़ाइनर कैसे बना जा सकता है।

2 thoughts on “Fashion Designer Kaise Bane/, भारत में फैशन डिज़ाइनर कैसे बनें? (योग्यता, कोर्स, करियर, जिम्मेदारी) #Storiesviewforall”

  1. Attractive section of content I just stumbled upon your blog and in accession capital to assert that I get actually enjoyed account your blog posts Anyway I will be subscribing to your augment and even I achievement you access consistently fast

    Reply

Leave a Comment