ईडन गार्डन क्रिकेट स्टेडियम का इतिहास है सौ साल से भी ज्यादा पुराना

ईडन गार्डन क्रिकेट स्टेडियम का इतिहास है सौ साल से भी ज्यादा पुराना

आपको बता दें कि ईडन गार्डन स्टेडियम साल 1864 में बना था। भारत का यह स्टेडियम पश्चिम बंगाल राज्य के कोलकाता शहर स्थित है। वर्ल्ड कप के लिए साल 1987 के नवीनीकरण के बाद ईडन गार्डन की क्षमता 94,000 से 100,000 दर्शकों की थी।

ईडन गार्डन स्टेडियम में कम से कम छह अलग-अलग मौकों पर 100,000 से अधिक लोग शामिल हो चुके हैं। हाल ही में इसकी क्षमता घटकर करीब 68,000 दर्शकों की है। इसका नाम भारत के तत्कालीन गवर्नर जनरल लॉर्ड ऑकलैंड की ईडन बहनों के नाम पर रखा गया था।

ईडन गार्डन क्रिकेट स्टेडियम का इतिहास है सौ साल से भी ज्यादा पुराना

कब खेला गया था पहला वनडे मैच

आपको बता दें कि इस स्टेडियम में 18 फरवरी 1987 को पहला मैच खेला गया था। यह मुकाबला भारत और पाकिस्तान की टीमों के बीच हुआ था जो बहुत रोचक भी था और बेहद यादगार भी रहा था। दर्शकों की क्षमताओं के हिसाब से यह स्टेडियम दुनिया में तीसरा सबसे बड़ा स्टेडियम है।

सिर्फ यही नहीं ईडन गार्डन स्टेडियम ने इतिहास के कुछ सबसे बेहतरीन क्रिकेट मैच देखे हैं। क्रिकेट के ऐतिहासिक और भारत के सबसे पुराने स्टेडियमों में गिने जाने वाले इस मैदान से जुड़ी कई यादें लोगों के मन में आज भी बसी हुई हैं।

आपको बता दें कि ईडन गार्डन स्टेडियम को भारतीय क्रिकेट का मक्का भी कहा जाता है क्योंकि यहां पर पहला क्रिकेट मैच खेला गया था। ईडन गार्डन में विश्व कप, एशिया कप और कई सारे मैच की मेजबानी की है।

इसके साथ-साथ आपको यह भी बता दें कि अहमदाबाद में स्थित नरेंद्र मोदी स्टेडियम दुनिया का सबसे बड़ा क्रिकेट स्टेडियम है। यहां पर ड्रेनेज सिस्टम इतना आधुनिक है कि बारिश बंद होने के आधे घंटे बाद ही मैच शुरू हो सकता है।

तो ये थी जानकारी ईडन गार्डन स्टेडियम से जुड़ी हुई। अगर आपको यह स्टोरी अच्छी लगी हो तो इसे फेसबुक पर जरूर शेयर करें

Photo credit Google

Leave a Comment