Bharat me Kitne Sansad Hain : भारत में कितने सांसद है? #Storiesvieewforall

Bharat me Kitne Sansad Hain : भारत में कितने सांसद है? #Storiesvieewforall

भारत में संसद का उच्च सदन राज्यसभा है और निचला सदन लोकसभा है। लोकसभा, राज्यसभा, सांसद और विधायक का देश में अहम योगदान माना जाता है और इन सबके बारे में हम अक्सर सुनते रहते हैं। ये विषय कई दृष्टिकोण से हमारे लिए महत्वपूर्ण हैं क्योंकि इन विषयों से UPSC में प्री, मेंस एग्जाम और इंटरव्यू के अलावा अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं में पूछे जाते हैं। आज इस ब्लाॅग में हम भारत में कितने सांसद है? के बारे में जानेंगे, जिसे आप अपनी तैयारी में जोड़ सकते हैं।

भारत में कितने सांसद है?

Bharat me Kitne Sansad Hain : भारत में कितने सांसद है? #Storiesvieewforall

भारत का संविधान सदन में अधिकतम 550 सदस्यों की अनुमति देता है, जिसमें 530 सदस्य राज्यों का प्रतिनिधित्व करते हैं और 20 केंद्र शासित प्रदेशों का प्रतिनिधित्व करते हैं। वर्तमान में लोकसभा में निर्वाचित प्रतिनिधियों द्वारा भरी गई 543 सीटें हैं। हम कह सकते है 543 लोकसभा सीटें हैं और इतने ही संसद सदस्य या सांसद चुनकर आते हैं। 

सांसद का कार्यकाल कितना होता है?

भारत में संसद के सदस्य लोकसभा और राज्यसभा के सदस्य होते हैं। दोनों सदनों में निर्वाचित और मनोनीत सदस्य होते हैं। राज्यसभा के निर्वाचित सदस्य का कार्यकाल 6 वर्ष है, जबकि लोकसभा के निर्वाचित सदस्य का कार्यकाल 5 वर्ष है।

सांसद का कार्य क्या है?

सांसद का कार्य इस प्रकार बताया जा रहा हैः

  • कार्यपालिका यानी सरकार अपने कामों को सही से करें, यह भी सुनिश्चित करना।
  • भारत की संसद (लोकसभा) में लोगों के विचारों और उनके निर्वाचन क्षेत्रों की समस्याओं का प्रतिनिधित्व करना।
  • सरकार द्वारा प्रस्तावित राजस्व और खर्च को मंजूरी देना और उनकी देखरेख करना।
  • भारत जैसे बहुस्तरीय संसदीय लोकतंत्र में एक संसद सदस्य (सांसद) का बहुत महत्वपूर्ण स्थान होता है। 
  • देश जिन कानूनों के अनुसार चलता है, उन्हें बनाने की जिम्मेदारी सांसदों की होती है।
  • प्रोग्राम्स को डिजाइन करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।
  • पंचायतें और नगर पालिकाएं जमीनी स्तर पर विकास लाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं।
  • सांसदों को जिला योजना समितियों में नाॅमिनेट किया जा सकता है।

सांसद बनने के लिए योग्यता क्या है?

भारत में कितने सांसद है जानने के साथ यह समझना जरूरी है कि एक सांसद संसद के दोनों सदनों में से किसी एक का नामांकित सदस्य होता है। सांसद बनने के लिए निम्न योग्यताएं होना जरूरी हैः

  • कैंडिडेट को भारतीय नागरिक होना चाहिए
  • कम से कम 25 वर्ष की आयु पूरी कर चुका है
  • किसी भी संसदीय क्षेत्र का मतदाता
  • वह किसी सरकारी लाभ के पद पर न हो
  • एक निर्दलीय उम्मीदवार को 10 प्रस्तावकों की जरूरत होती है
  • INR 10,000 का सेक्योरिटी अमाउंट जमा करना।

Bharat me Kitne Sansad Hain : भारत में कितने सांसद है?  FAQs

सांसद का पद क्या होता है?सांसद संसद में मतदाताओं का प्रतिनिधि होता है।

राज्यसभा में कितने सदस्य होते हैं?राज्यसभा में 250 से अधिक सदस्य नहीं होने चाहिए। 

सांसदों की सैलरी कितनी होती है?सांसदों की सैलरी INR 1 लाख है। 

Leave a Comment